बोध कथा भाग – 2  (पत्थर)   धनिया हिमाचल के अपने छोटे से गांव लखीमपुर में बड़े आनंद से रह रही थी उसके दो बेटे थे हीरा और जोगी, दोनों ही बड़े मेहनती थे।  दोनों बच्चे अपनी माँ के हर काम में हाथ बटाते, इतने मेहनती बच्चे की खेत में.